Happy Navratri Attitude Love Sad Good Morning Good Night

Home Bhoolna Shayari in Hindi

Bhoolna Shayari in Hindi

भुला दीजिए हमे जितना भूलना चाहते है आप
भुला दीजिए हमे जितना भूलना चाहते है आप
हम भी बहोत ज़िद्दी है दिल के किसी कोने में रह ही जाएंगे



डरते है आग से कही जल ना जाए डरते हैं ख्वाब से कहीं टूट ना जाए
डरते है आग से कही जल ना जाए
डरते हैं ख्वाब से कहीं टूट ना जाए
लेकिन सबसे ज्यादा डरते हैं आपसे कहीं आप हमें भूल ना जाए



भूल चुका हूं उन लोगों को जिन्हें मैंने भूल से चुन लिया था
भूल चुका हूं उन लोगों को
जिन्हें मैंने भूल से चुन लिया था



यह भी देखिए:
नींद भी नीलाम हो जाती है दिलों की महफिल में जनाब
नींद भी नीलाम हो जाती है दिलों की महफिल में जनाब
किसी को भूल कर सो जाना इतना आसान नहीं होता



डरते हैं आग़ से कहीं जल ना जाए  डरते हैं ख़्वाब से कहीं टूट न जाएं
डरते हैं आग़ से कहीं जल ना जाए
डरते हैं ख़्वाब से कहीं टूट न जाएं
लेकिन सबसे ज्यादा डरते हैं आपसे
कही आप हमें भूल ना जाएं



मोहब्बत तो मोहब्बत है और हमेशा रहेगी
मोहब्बत तो मोहब्बत है और हमेशा रहेगी
फिर चाहे वो नाराज़ हो बेरुख़ी दिखाए
ख़ामोश हो जाए जलाये या भूल जाए



जब से समझाना खुद को आया है
जब से समझाना खुद को आया है
हम औरों को मनाना भूल गए हैं



यह भी देखिए:
तरसेगी तु मेरी प्यार को भगवान तुझे ऐसी सजा देगा
तरसेगी तु मेरी प्यार को भगवान तुझे ऐसी सजा देगा
याद करेगी तु मेरे प्यार को में तुझको भूल चुका हूंगा



चाहने वाले तो मिलते ही रहेंगे तुझे सारी उम्र
चाहने वाले तो मिलते ही रहेंगे तुझे सारी उम्र
बस तु कभी जिसे भूल ना पाए
वो चाहत यकीनन हमारी होगी



मुलाकात जरूरी है अगर रिश्ते निभाने हो
मुलाकात जरूरी है अगर रिश्ते निभाने हो वरना
लगाकर भूल जानेसे पौधा भी सुख जाता है



मालूम होता है भूल गए हो शायद
मालूम होता है भूल गए हो शायद
या फिर कमाल का सब्र रखते हो



तुम भूल गए मुझे चलो अच्छा ही हुआ
तुम भूल गए मुझे चलो अच्छा ही हुआ
किसी एक की रातें तो सुकून से गुजरे



उसे किस्मत समजकर गले से लगाया था
उसे किस्मत समजकर गले से लगाया था
भूल गए थे किस्मत बदलते देर नहीं लगती



चंद फासला जरूरी रखिए हर रिश्ते के दरमियान
चंद फासला जरूरी रखिए
हर रिश्ते के दरमियान
क्योंकि नहीं भूलती दो चीजें
चाहे जितना भुलाओ
एक घाव और दूसरा लगाव



वह मर्द दिल के अच्छे होते है
वह मर्द दिल के अच्छे होते है
जो गुस्से में भी औरत से बात
करने की तमीज नहीं भूलते



ख़ुद को भूला हूँ उस को भूला हूँ उम्र भर की यही कमाई है
ख़ुद को भूला हूँ उस को भूला हूँ
उम्र भर की यही कमाई है
उस गली में ये सुनकर सब्र किया
जाने वाले यहां के थे ही नहीं



मुझमें कमी निकालना भूल जाएंगे लोग
मुझमें कमी निकालना भूल जाएंगे लोग
अगर उनको तोहफे में मैं आईना दे दूं



भूल सकते हो तो भूल जाओ इजाज़त है तुम्हे
भूल सकते हो तो भूल जाओ इजाज़त है तुम्हे
न भूल पाओ तो लौट आना एक और भूल कि इजाज़त है तुम्हे



भुलाया उनको जाता है जो दिमाग में बसते है
भुलाया उनको जाता है जो दिमाग में बसते है
दिल में बसने वालो को भूलना नामुमकिन है



मेरी जान तुझे भूलने से पहले
मेरी जान तुझे भूलने से पहले
मुझे बस वो पल चाहिए
जिसे लोग मौत कहते है



यकीन था कि तुम भूल जाओगे मुझे
यकीन था कि तुम भूल जाओगे मुझे
खुशी है कि तुम उम्मीद पर खरे उतरे



बस एक ही ख्वाहिश मैं मुट्ठी भर बादल बन जाऊं
बस एक ही ख्वाहिश मैं मुट्ठी भर बादल बन जाऊं
तेरे दिल के आंगन में भिगु तूझ संग भूल गए सब गम



तुझे चाहने का गुनाह कुछ ऐसा कर डाला
तुझे चाहने का गुनाह कुछ ऐसा कर डाला
ना तुझे भूला सकते है ना बिन तेरे रह सकते है



भूला नहीं हूं मैं आज तक मुझे याद हो तुम
भूला नहीं हूं मैं आज तक
मुझे याद हो तुम
मेरे जाने वाले कल और
रात आने वाले सपनों का आगाज हो तुम



आंखें अब कहे क्या ये रो चुके अनजानी गालियों में ये खो चुकी राहे ए इश्क ना है
आंखें अब कहे क्या
ये रो चुके अनजानी गालियों में
ये खो चुकी राहे ए इश्क ना है
आसा मगर यहा आने की भूल है हो चुकी



कैसे भूलेगी वो मेरी बरसों की चाहत को
कैसे भूलेगा वो मेरी बरसों की चाहत को
दरिया अगर सूख भी जाये तो रेत से नमी नहीं जाती



मुस्कुराहट है हुस्न का ज़ेवर मुस्कुराना न भूल जाया करो
मुस्कुराहट है हुस्न का ज़ेवर मुस्कुराना न भूल जाया करो
हद से बढ़ कर हसीन लगते हो झूटी क़स्में ज़रूर खाया करो



तेरी यादे तेरी बाते तेरे साथ बीताए हर वक्त
तेरी यादे तेरी बाते तेरे साथ बीताए हर वक्त
को भूलना चाहती हुं
बहुत खो लीया तुजमे
अव मे खुद को ढुढना चाहती हुं



इतना भी निर्दई मत बन रे मनुष्य कि ये प्रकृति क्षमा करना भूल जाए
इतना भी निर्दई मत बन रे मनुष्य
कि ये प्रकृति क्षमा करना भूल जाए



भूलने की सारी बातें याद है इसलिए जिंदगी मेरी विवाद है
भूलने की सारी बातें याद है
इसलिए जिंदगी मेरी विवाद है



भूलना भुलाना तो दिमाग का काम है साहब
भूलना भुलाना तो दिमाग का
काम है साहब
आप दिल में रहते हो
बेफिक्र हो जाओ



आसमां इतनी बुलंदी पर जो इतराता है
आसमां इतनी बुलंदी पर जो इतराता है
भूल जाता है जमी से ही नजर आता है



भूलने की कोशिश करते हो आखिर इतना क्यों सहते हो
भूलने की कोशिश करते हो
आखिर इतना क्यों सहते हो
डूब रहे हो और बहते हो
दरिया किनारे क्यों रहते हो



चंद फासला जरूर रखिए हर रिश्ते के दरमियान
चंद फासला जरूर रखिए हर रिश्ते के दरमियान
क्योंकि नहीं भूलती दो चीजें चाहे जितना भुलाओ
एक गांव और दूसरा लगाव



कुछ किस्से दिल में कुछ कागजों पर आबाद रहे
कुछ किस्से दिल में
कुछ कागजों पर आबाद रहे
बताओ कैसे भूलें उसे
जो हर साँस में याद रहे.



मां बूढ़ी हो गई तो हाथ पकड़ने को शर्माते हैं
मां बूढ़ी हो गई तो हाथ पकड़ने को शर्माते हैं
भूल गए बचपन में गोद में बैठकर रोटी खाई है



प्यार इंसान से करो उसकी आदत से नहीं रुठो उनकी बातों से मगर उनसे नहीं
प्यार इंसान से करो उसकी आदत से नहीं
रुठो उनकी बातों से मगर उनसे नहीं
भूलो उनकी गलतियाँ पर उन्हें नहीं
क्यों की रिश्तों से बढकर कुछ भी नहीं



हमारी गलतियों से कभी टूट मत जाना
हमारी गलतियों से कभी टूट मत जाना
हमारी शरारत से रूठ मत जाना
आपकी चाहत ही हमारी जिंदगी है
जिंदगी में कभी हमे भूल मत जाना



नींद भी नीलाम हो जाती हैं दिलों की महफ़िल में जनाब
नींद भी नीलाम हो जाती हैं दिलों की महफ़िल में जनाब
किसी को भूल कर सो जाना इतना आसान नहीं होता



हो चुके अब तुम किसी के
हो चुके अब तुम किसी के;
कभी मेरी ज़िंदगी थे तुम
भूलता है कौन मोहब्बत पहली
मेरी तो सारी ख़ुशी थे तुम