Happy Navratri Attitude Love Sad Good Morning Good Night

Home Akelapan Status Shayari With Image in Hindi

Akelapan Status Shayari With Image in Hindi

क्या कहें कि अकेलापन क्यों मुझे इतना भाता है
क्या कहें कि अकेलापन क्यों मुझे इतना भाता है,
खुद से बातों में अक्सर मेरा वक्त गुज़र जाता है।



मैं अकेलेपन में खुद को तुमसे छिपाते जा रहा हूँ
मैं अकेलेपन में खुद को तुमसे छिपाते जा रहा हूँ,
अपनी ही नजरों में खुद को गिराते जा रहा हूँ।



अकेलेपन से दिल जाने क्यूँ घबरा रहा है
अकेलेपन से दिल जाने क्यूँ घबरा रहा है,
मुझें वो तेरी बातें फिर से याद दिला रहा है।



यह भी देखिए:
अब मुझे रास आ गया है अकेलापन
अब मुझे रास आ गया है अकेलापन,
अब आप अपने वक्त का अचार डालिए।



ये अकेलापन मुझे भाने लगा अब
ये अकेलापन मुझे भाने लगा अब,
करीब जाना मुझे चौकाने लगा अब।



क्या करेंगी इस खाली इमारत जैसे दिल का हाल जानके
क्या करेंगी इस खाली इमारत जैसे दिल का हाल जानके,
क्यूंकी अब तो इसे भी अकेलेपन से मोहब्बत सी हो गई है।



तेरे जाने के बाद मैंने कितनों को यु आज़माया है
तेरे जाने के बाद मैंने कितनों को यु आज़माया है,
मगर कोई भी मेरे इस अकेलेपन को दूर नहीं कर पाया है।



यह भी देखिए:
जनाब कैसे मुकम्मल हो उस इश्क़ की दास्तां
जनाब कैसे मुकम्मल हो उस इश्क़ की दास्तां,
जिसकी फितरत में ही अकेलापन होता है।



कौन कहता है जनाब ये अकेलापन छलता है
कौन कहता है जनाब ये अकेलापन छलता है,
जब जिंदगी की समझ हो जाए तो खुद का साथ भी भाता है।



वो तुम्हारे नज़रिए से अकेलापन हो सकता है
वो तुम्हारे नज़रिए से अकेलापन हो सकता है,
पर मेरे नज़रिए से देखो वो मेरा सुकून है।



सूने घरों में रहने वाले कुंदनी चेहरे कहते है
सूने घरों में रहने वाले कुंदनी चेहरे कहते है,
सारी सारी रात अकेलेपन की आग जलाती है।



भीड़ में ये अकेलापन मुझसे मिलने जब आया
भीड़ में ये अकेलापन मुझसे मिलने जब आया,
क्या है ये अकेलापन मुझे समझ में तब आया।



मेरे अकेलेपन ने भी क्या खूब साथ निभाया इस ज़िन्दगी में
मेरे अकेलेपन ने भी क्या खूब साथ निभाया इस ज़िन्दगी में,
कि अब तो आलम ये है कि हम दीवारों से भी बातें करते है।



बढ़ती नजदीकियों को अक्सर जुदाई में बदलते देखा है
बढ़ती नजदीकियों को अक्सर जुदाई में बदलते देखा है,
आज सोचा अपने अकेलेपन से नजदीकी बढ़ा के तो देखूं।



मुझे मेरा अकेलापन ही कुछ ज्यादा भाता है
मुझे मेरा अकेलापन ही कुछ ज्यादा भाता है,
इन खोखले बनावटी रिश्तों के बीच दिल घबराता है।



क्या कहें जनाब कि अकेलापन क्यों इतना भाता है
क्या कहें जनाब कि अकेलापन क्यों इतना भाता है,
खुद से बातों में अक्सर यू ही वक्त गुज़र जाता है।